Select Page
गोवर्धन गौ सेवा

भारत देश और अन्य देश में गाय को एक माता के रूप में मानकर उसकी पूजा करती है। गौ माता की आज से ही नहीं पुराणों के समय से पूजा होती आ रही है। चाहे जमाना कितना ही क्यों ना बदल गया हो मगर गाय आज भी उतनी ही पूजनीय और महत्वपूर्ण है। आज भी उसकी उपयोगिता कम नहीं हुई है।धार्मिक त्योहारों पर, रीति-रिवाजों से कई वर्गों में आज भी पूजा की जाती है| भगवान कृष्णा भी गाय के साथ ही रह कर बडे हुए है और गाय को पालने का कार्य भी करते थे। इसलिए गाय को गोपाल के नाम से भी संबोधित किया जाता है, और कहा जाता है कि गौ माता के अंदर 33 करोड़ देवी देवताओं का वास है। इसी धार्मिक मान्यताओं के कारण भारत देश में गाय का बहुत ही महत्व है।

 

Make a Donation

Get Involved

Get Involved as a Volunteer with US!

Volunteer

Cows Saved

Donor

गोवर्धन गौवंश सेवा व गौविज्ञान अनुसंधान केंद्र

यह केंद्र ३० एकड़ में फैला हुआ एक विशाल गौशाला केंद्र : गाँव बरडकिन्ही तालुका साकोली , जिला भंडारा यहा पे स्तिथ है, यहाँ गौवंश का पालन पोषण किया जाता है. हमारी संस्था सं. २०१८ में स्थापित की गयी है, हमारी संस्था का उद्देश गौमाता पे बढ़ते अत्याचारो और उनके मास के व्यापर को ख़त्म करना है, हमारे संस्था में कई स्वयंसेवक जुड़े हुए है, और हमारे इस उद्देश में हमारा हाथ बढ़ाते है. हमारे यहाँ पुलिस द्वारा कत्तलखाणो से छुड़ाये गौवंश तथा लावारिस बेघर गौमाताये लाये जाते है. हमारे केंद्रे में हर महीने वेटरनरी डॉक्टरो की टीम यह गौमाताो का चेकउप करने आते है, ​और ज़रूरी उपचार करते है|

जाहिर निवेदन

 

हिन्दू धर्मनुसार गौमाता में सभी देवदेवताओ का वास है।  इंसान के जन्म के दूध से लेकर पूजा में गौमुत्र और अंत में गोबर, इंसान की क्रिया कार्यो को पवित्र करता है. गौमाता के उपकारों का कर्ज हम इस जन्म में भी चुका नहीं सकते इसलिए गौदान सर्वश्रेष्ठ दान माना जाता है। दुनिया में कई कत्तलखानो  में रोज लाखो गौवंश आरोग्य दायिनी गौमताओ को मांस के लिए कत्ल किया जाता है| हमारी संस्था द्वारा ३० एकड़ में चलाये जाने वाले गौसेवा गौशाला केंद्र में कत्तलखानो में से पुलिस द्वारा बचाये / छुड़ाए  गये हज़ारो गौवंश का पालन पोषण किया जाता है|

आप सभी गौभक्तो से बिनती है की एसे गौवंशो का पुनर्वसन और पालन पोषण करने में आपका योगदान देकर गौवंशो को जीवनदान देने में सहायता करे और पुनः कमाए।  आप अपने स्व:इच्छेनुसार कोई भी राशि गौमाता के लिए मन से संस्था के सेकड़ो में से किसी एक गौवंशको चुनकर उसके नाम से दान करे और अपने पत्ते पर रसीद प्राप्त करे। आप ₹ ५००१/- राशि के संस्ता के आजीवन सदस्य भी बन सकते है। अधिक जानकारी क लिए संस्था की वेबसाइट पे लॉगिन करे और निचे दिए खाते में दान कर सकते है|

संस्था सचिव

 

में  संस्था सचिव सभी गौ भक्तोसे इस कोरोना- १९ महामारी से चारे, पाणी , दवाई की हुई कमी को दूर करणे के लिए  मदत का हाथ आगे बढ़ाने के लिए बिनती करता हू। आप स्व:इच्छा से हमारे गौशाला को योगदान करके गौशाला पे आये और संकट से उभारणे मे सहायता करे|

आप जन्मदिन या कोई भी अन्य  कार्यक्रम गौशाला में मनाना चाहते हो और आप गौमाता का आर्शीवाद लेना चाहते हो, इस सभी कार्य में  संस्था व्यवस्था करने के लिए प्रतिबद्ध है| कोई गौभक्त अपनी सेवा गौशाला मे देना चाहे तो उनका मैं स्वागत करता हूँ।

वर्ष २०22 मे गौशाला में  5000 गौवंश के रहने की व्यवस्था के लिए शेड , पानी का पंप (सोलर) ,कँपौंडवाल, १० क्वाटर्स, बनाने का लक्ष है, जीसका खर्च 4०,००,०००/- (चालीस लाख) अनुमानीत है कोई भी गौभक्त इस कार्य में लगनेवाला सामान गौशाला के पत्ते पे भेज सकते हैं, कोई भी लिमिटेड कंपनी अपना सी.एस.आर फंड गौशाला को दे के संस्था की सहायता कर सकते है, संस्था आप सभी का स्वागत करती है।

KISHOR WANJARI

Email:  k_strl@yahoo.com

Mobile: 8806606000

नाम – लक्ष्मी बहुउद्देशीय संस्था

Name – Lakshmi Bahuuddeshiya  Sanstha 
Bank – Bank of India
Ac No. – 920221110000003
IFSC Code – BKID0009202
Branch –  Lakhani, Bank of India 

Contact Us

+91 8806606000

West Samarth Nagar, Near Samarth College, Murmadi, Lakhni-441804